Blogs

न्यूरो डिजीज क्या है ?

मानसिक रोग को न्यूरो डिजीज या मनोविकार भी कहा जाता है। मानसिक रोग की स्थिति में व्यक्ति की मनोदशा, यादाशत, स्वभाव इत्यादि की प्रक्रिया पर असर पड़ता है और व्यक्ति का अपने भावों इत्यादि पर कोई काबू नहीं रहता है। न्यूरोलॉजिकल डिसीज में मुख्य रूप से मिर्गी, अल्जाइमर, डिमेंशिया, स्ट्रोक, माइग्रेन, सिरदर्द, न्यूरोइंफेक्शन, ब्रेन ट्यूमर, नर्वस सिस्टम का ट्रॉमेटिक डिसऑर्डर आदि न्यूरो डिजीज में आते हैं।

क्यों होती है न्यूरो की बीमारी ?

हमारा ब्रेन, स्पाइनल कॉर्ड और नर्व मिलकर नर्वस सिस्टम तैयार करता है। ये सभी मिलकर बॉडी के फंक्शन को कंट्रोल करते हैं। अगर व्यक्ति के नर्वस सिस्टम के किसी भी पार्ट में समस्या हो जाती है तो व्यक्ति को बोलने में, सांस लेने में, सीखने में और मूव करने में दिक्कत हो सकती है। खतरनाक रसायनों के संपर्क में आने से, कीटनाशकों के अधिक उपयोग से तनाव, डिसलोकेशन और एक्सट्रीम वेदर के कारण भी न्यूरोलॉजिकल फंक्शन प्रभावित होती है।

न्यूरो डिजीज की स्थिति ?

दुनिया भर में लाखों लोग न्यूरोलॉजिकल डिसीज से प्रभावित हैं। हर साल स्ट्रोक से करीब 6 मिलियन लोगों की जान जाती है। वहीं करीब 50 मिलियन से ज्यादा लोग मिर्गी, 47.5 मिलियन लोग डिमेंशिया से जूझ रहे हैं। तेजी से हो रहे सामाजिक बदलाव, शहरीकरण व आधुनीकरण की वजह से भी न्यूरो की बीमारियां तेजी से बढ़ रही हैं।

इलाज की स्थिति

मॉडर्न मेडिकल यानि ऐलोपैथ में न्यूरो संबन्धी रोगों कोई पूर्ण समाधान नहीं है। इलाज के नाम पर बड़े-बड़े भवनों और नामी चिकित्सकों के पास लोग जाते हैं पर सही ये है कि कोई समुचित चिकित्सा ऐलोपैथ के पास नहीं है। इस बात को आप न्यूरो पेशेंट्स के बढ़ते आंकड़े से भी समझ सकते हैं

आयुर्वेद ही एकमात्र उपचार

न्यूरो संबन्धी बीमारियों का इलाज सिर्फ और सिर्फ आयुर्वेद में है। कारण कि आयुर्वेद में सिर्फ एक बीमारी नहीं बल्कि बीमारी के कारणों को जानकर पूर्ण शरीर का इलाज किया जाता है। आयुर्वेद का कहता है कि जिन पांच तत्वों (पृथ्वी, जल, अग्नि, आकाश और वायु) से मानव का शरीर बना है उन्ही पांच तत्वों से ही ब्रह्मांड भी बना है। ऐसे में शरीर में जिन तत्वों की कमी होती है या अधिकता होती है उसे संतुलित करके इलाज किया जाता है।

बी.के न्यूरो केयर है सर्वेश्रेष्ठ

न्यूरो संबन्धी बीमारियों का पूर्ण निदान बी.के. न्यूरो केयर में किया जा रहा है। जहां सैकड़ों गंभीर न्यूरो संबन्धित रोगी उपचार पा रहे हैं और स्वस्थ हो रहे हैं। बी.के. न्यूरो केयर बीके आरोग्यम एंड रिसर्च प्राइवेट लिमिटेड का ही विंग है। जो पिछले 40 साल से भी अधिक समय से गंभीर से गंभीर बीमारियों का इलाज कर रहा है। यहां न्यूरों संबन्धी बीमारियों के इलाज के लिए अनुभवी चिकित्सकों की टीम, विश्वस्तरीय सुविधाओं, आधुनिक तकनीकी, पूर्ण आयुर्वेदिक औषधियों के साथ ही कारगर नेचुरोपैथी से सफलता पूर्वक इलाज किया जाता है।

बी.के. आरोग्यम का चयन क्यों करें ?

1-आईएसओ जीएमपी (ISO&GMP) सर्टिफाईड औषधियां

2-भारत का सबसे विश्वसनीय आयुर्वेदिक रिसर्च हॉस्पिटल

3- एक लाख से अधिक मरीजों को स्वस्थ करने रिकॉर्ड

4-20 साल से अधिक किडनी रोग के इलाज का अनुभव

5-200 से अधिक कुशल व अनुभवी चिकित्सकों की टीम

6-अपने फॉर्म हाउस से उगाई गईं औषधियों का प्रयोग

7- विशिष्ट वैज्ञानिकों की टीम

8-अपने वैज्ञानिकों द्वारा बनाई औषधियों का उपयोग

9- ऑनलाइन ओपीडी सुविधा

10- आयुर्वेद आईपीडी की सुविधा

11-अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस आयुर्वेदिक रिसर्च हॉस्पिटल

12- प्राचीन औषधियों व आधुनिक तकनीकी का समन्वय

13- नागार्जुन पद्दति से इलाज की सुविधा

14- पंचकर्म की सुविधा

15.वाराणसी, लखनऊ, दिल्ली समेत कई शहरों में हमारी शाखाएं

सोचें नहीं, जिंदगी बचायें

अगर आप या आपके परिवार का कोई भी सदस्य न्यूरो संबन्धी बीमारियों से ग्रसित है तो वक्त सोचने का नहीं जिंदगी बचाने का है। बी.के. आरोग्यम देश का सबसे पुराना और विश्वसनीय एकमात्र मल्टीस्पेशियलिटी आयुर्वेदिक अस्पताल है जहां से हर रोज न्यूरो संबन्धी बीमारियों से ग्रसित मरीज स्वस्थ हो रहे है। हमारा लक्ष्य आपकी जिंदगी बनाना है।

Share: